News Photo

Chancellor

नाम: सुश्री अनुसुईया उइके पिता का नाम: स्वर्गीय श्री लखनलाल जी उइके जन्म तारीख: 10 अप्रैल 1957 ग्राम रोहनाकला जिला छिदवाड़ा म0प्र0 स्थाई पता : एम आई जी - 9 डूप्लेक्स, चित्रकूट काम्पलेक्स, नागपुर रोड, छिन्दवाड़ा, जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 480001 शिक्षा: एम.ए. (अर्थशास्त्र)/एल.एल.बी. I प्रशासनिक पद निर्वहन का विवरण : व्याख्याता - (अर्थशास्त्र) शासकीय महाविद्यालय, तानिया जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 1982-85 तक विधायक : विधानसभा क्षेत्र दमुआ जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 वर्ष 1985 से 1990 तक मंत्री : मध्यप्रदेश शासन, महिला एवं बाल विकास विभाग, भोपाल 1988 से 1989 तक प्रभारी अध्यक्ष : भूमि विकास बैंक, (ग्रामीण एवं कृषि विकास बैंक) जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 वर्ष 1998 से 1999 तक अध्यक्ष : मध्यप्रदेश राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग, मध्यप्रदेश शासन भोपाल जनवरी 2006 से मार्च 2006 तक सदस्य : राष्ट्रीय महिला आयोग, भारत सरकार, दीनदयाल उपाध्याय मार्ग नई दिल्ली में वर्ष 2000-2003, एवं पुर्ननियुक्ति 2003-2005 जून तक संसदीय दायित्व : सांसद राज्यसभा 04 अप्रैल 2006 से 04 अप्रैल 2012 तक


संसदीय तथा विभागीय समितियों के दायित्व :

पूर्व सदस्य, संसदीय समिति, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, नई दिल्ली वर्ष 2006-2009 पूर्व सदस्य, हिन्दी सलाहकार समिति, खाद्य प्रसंस्करण, मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली वर्ष 2006-2009 पूर्व सदस्य, सलाहकार समिति, महिला एवं बाल विकास विभाग, मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली वर्ष 2006-2009 पूर्व सदस्य रेलवे सलाहकार समिति एसईसीआर रेलवे जोन समिति वर्ष 2007 पूर्व सदस्य टेलीफोन एडवाईजरी कमेटी, जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 वर्ष 2006 पूर्व सदस्य, अनुसूचित जातियों तथा जनजातियों के कल्याण संबंधी समिति में वर्ष 2009 पूर्व सदस्य, ग्रामीण विकास संबंधी संसदीय स्थाई समिति वर्ष 2009 पूर्व सदस्य, सलाहकार समिति, कोयला मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली वर्ष 2009 सामाजिक जीवन के विशेष उपलब्धियाँ एवं पुरूस्कार


विशेष कार्यों के लिये पुरूस्कार एवं सम्मान :

दलित समाज के उत्थान हेतु डाॅ. भीमराव अम्बेडकर फैलोशिप से सम्मानित 6-12-1990 मध्यप्रदेश विधानसभा में 21 सितम्बर 1989 को क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिये तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष माननीय श्री बलराम जाखड जी द्वारा जागरूक विधायक के रूप में सम्मानित किया गया। विदेश यात्राएँ विधायक के पद पर रहते हुए : मास्को - वर्ष 1985 में रूस की राजधानी मास्को में अंतर्राष्ट्रीय युवा महोत्सव में भाग लेकर मध्यप्रदेश के युवाओं का प्रतिनिधित्व किया तथा ताशकन्द का भ्रमण। राज्य सभा सांसद के पद पर रहते हुए: जिनेवा स्विटजरलैण्ड - में 3 दिसम्बर 2006 से 8 दिसम्बर 2006 तक आयोजित सेमीनार में भाग लिया जिसका विषय था महिलाओं को मुख्यधारा में लाने हेतु संसदीय समितियाँ क्या भूमिका अदा कर सकती हैं, इस विषय पर आयोजित सेमीनार में तीन सदस्यीय सांसदों के भारतीय प्रतिनिधि मंडल में सदस्य की हैसियत से भाग लिया। लंदन : लन्दन - दिनांक 7 दिसम्बर 2006 को लंदन प्रवास। महामहिम राष्ट्रपति जी के साथ प्रवास : मास्को- महामहिम श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह जी पाटिल राष्ट्रपति भारत गणराज्य के साथ दिनांक 2 से 8 सितम्बर 2009 तक मास्को, सेन्टपीटरबर्ग, दुशान्वे (रसिया) एवं ताजीकिस्तान का उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल के सदस्य के रूप में प्रवास। सातवीं एशि पैसिफिक महिला सांसद एवं मंत्रियों के सम्मेलन में मलेशिया : कुआलालम्पुर मलेशिया-एशियन फोरम आफ पार्लियामेन्टेरियन्स आन पापुलेशन एण्ड डेव्हलपमेन्ट द्वारा बैंकाक थाईलेण्ड में दिनांक 14 एवं 15 नवम्बर 2009 को आयोजित सातवीं एशिया पैसिफिक महिला सांसद एवं मंत्रियों के सम्मेलन में भाग लिया।


विदेश यात्राएँ महामहिम उपराष्ट्रपति जी के साथ प्रवास :

जाम्बिया, मलावी तथा बोत्सवाना-5 जनवरी से 12 जनवरी 2010 तक महामहिम श्री हामिद अंसारी जी उपराष्ट्रपति जी भारत गणराज्य के साथ उच्च स्तरीय शासकीय प्रतिनिधि मंडल में दक्षिण अफ्रीकी देशों जाम्बिया, मलावी तथा बोत्सवाना का प्रवास।


राष्ट्रीय महिला आयोग के कार्यकाल की विशेष उपलब्धियाँ

आदिवासी महिला सशक्तिकरण राष्ट्रीय महिला आयोग 2000 से 2005 तक: आदिवासी महिलाओं का सशक्तिकरण, समस्याएँ एवं संभावनाएँ विषय पर 6 क्षेत्रीय कार्यशालाएँ क्रमशः नासिक, गुवाहाटी, कुल्लू मनाली, झारखण्ड, मैंगलोर एवं जबलपुर में आयोजित की गई तथा इसके प्रतिवेदन भारत सरकार को प्रस्तुत किये गये। आर्थिक सशक्तिकरण : मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ की आदिवासी महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण विषय का अध्ययन कराया गया जिसका प्रतिवेदन भारत सरकार को प्रस्तुत किया गया। देश का भ्रमण तथा प्रतिवेदन प्रस्तुतीकरण : राष्ट्रीय महिला आयोग में तीन वर्ष के कार्यकाल में 22 राज्यों का 80 जिलों का भ्रमण किया गया जिसका प्रतिवेदन तत्कालीन प्रधानमंत्री माननीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी को प्रस्तुत किया गया।


भारतीय संसद राज्यसभा में विशेष उपलब्धियाँ

प्रश्नोत्तर : राज्यसभा में लगभग 413 तारांकित एवं अतारांकित प्रश्नों के माध्यम से जिले, प्रदेश एवं देश की प्रमुख समस्याओं को प्रस्तुत किया गया है। जिले में कोयला कम्पनी तथा उसकी समस्याओं नई खदानों की स्थापना, जिले में रेल विस्तार की परियोजनाओं, पेंच व्यपवर्तमन, बिजली की उपलब्धता, महिला एवं बाल कल्याण, कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई, दूरसंचार, शहरी विकास, जल संसाधन, रक्षा, वित्त, स्वरोजगार योजनाओं, सड़कों के विकास, आदि विषयों पर केन्द्र सरकार का ध्यान दिलाकर उन्हें पूर्ण कराने का सार्थक प्रयास किया गया है। विशेष उल्लेख : राज्यसभा में लगभग 41 विशेष उल्लेख किये हैं जिनमें छिन्दवाड़ा जिले में चिकित्सा महाविद्यालय खोलने, जिले को रोजगार गारंटी योजना में शामिल करने, गरीबों के लिये प्रदा किये जा रहे लाल गेंहूँ को वापिस लेने की मांग, ग्राम न्यायालय व्यवस्था को पुर्नजीवित करना, किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने, संतरा किसानों के लिये रेलवे बोगी लगाने, प्रदेश के बुन्देलखण्ड को सूखा राहत पैकेज प्रदान करने, रसोई गैस की कमी समाप्त करने, सिक्कों की कालाबाजारी रोकने, डाक्टर हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय सागर, को केन्द्रीय विश्वविद्यालय को दर्जा प्रदान करने, महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में आदिवासियों को 200 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराने, सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिये अनुदान, रेल के कोचों में विभिन्न कमियाँ दूर करने तथा सुविधा उपलब्ध कराने, तामिया के भारियाओं के समान सभी भारियाओं को सुविधा दिलाने, कोयले के अवैध उत्खनन तथा परिवहन को रोकने, केन्द्र सरकार का ध्यान आकर्षण किया : तामिया को पर्यटन स्थल बनाने, अनुसूचित जाति तथा जनजाति के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र जारी करने, महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में भुगतान शीघ्र कराने, छिन्दवाड़ा में सतपुड़ा विश्वविद्यालय की स्थापना, धर्मान्तरित आदिवासियों की सुविधाएँ समाप्त करने जैसी ज्वलन्त समस्याओं को उठाकर उनका निराकरण सरकार से करने का प्रयास किया गया। राज्यसभा में लगभग 14 मामलों में भारत सरकार द्वारा आस्वासन Assurance दिया गया। संसद में विभिन्न विषयों पर उद्बोधन: समय-समय पर संसद में कन्या भ्रूण हत्या, बाल विवाह अधिनियम, आदिवासियों को वनाधिकार अधिनियम, रेल बजट तथा महिलाओं को संसद एवं विधानसभाओं में 33 प्रतिशत आरक्षण हेतु संविधान संशोधन अधिनियम 2008 में प्रभावी उद्बोधन तथा अन्य महत्वपूर्ण, वर्ष 2010-11 में आम बजट पर प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग के बजट को बढ़ाने के लिये भाषण आदि विषयों पर चर्चाओं में भी भाग लेकर जोरदार तरीके से विचार रखे गये।


सामाजिक, पदों का निर्वहन का विवरण

1 - अध्यक्ष, रोटेक्ट क्लब छिन्दवाड़ा 1981 2 - जिलाध्यक्ष, भारत युवक समाज छिन्दवाड़ा 1982 3 - जिला अध्यक्ष, आदिवासी विकास परिषद छिन्दवाड़ा 1984 4 - प्रदेश उपाध्यक्ष, भारत स्काउट गाईड म0प्र0 1985 5 - प्रदेश उपाध्यक्ष, भारत युवक समाज, म0प्र0 1986 6 - संरक्षक, इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाईजेशन, (INO) झिंझोली नई दिल्ली


छात्र राजनीतिक जीवन

1 - उपाध्यक्ष एवं सचिव, छात्रसंघ शासकीय महाविद्यालय छिन्दवाड़ा म0प्र0 1971-81 2 - सदस्य, राष्ट्रीय सेवा योजना शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, छिन्दवाड़ा म0प्र0


राजनीतिक पदों का निर्वहन विवरण

1 - सदस्य, राष्ट्रीय परिषद, भारतीय जनता पार्टी वर्ष 1993 2 - कार्यकारिणी सदस्य, राष्ट्रीय महिला मोर्चा, भारतीय जनता पार्टी वर्ष 1994-1995 3 - राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आदिवासी मोर्चा भारतीय जनता पार्टी वर्ष 1995-96 4 - प्रदेश मंत्री, प्रदेश भारतीय जनता पार्टी वर्ष 1998-99 5 - प्रदेश मंत्री, युवा मोर्चा भारतीय जनता पार्टी 1996 6 - वर्ष 1993 के विधानसभा आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के रूप में लखनादौन जिला सिवनी चुनाव लड़ा। 7 - वर्ष 1998 के विधानसभा आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी के रूप में दमुआ जिला छिन्दवाड़ा प्रत्याशी की हैसियत से चुनाव लड़ा।